शादी के पहले दिन इन बातों को न करें

  
suhagraat

शादी हर किसी की जिंदगी में आने वाला एक खास लम्हा होता है, इस दिन का हर किसी को बहुत इंतज़ार रहता है, और जैसे ही शादी की डेट फिक्स हो जाती है, उसके बाद तो सब्र करना ही मुश्किल सा हो जाता है, क्योंकि कोई आपका साथ जिंदगी भर देने के लिए आपके पास आ जाता है, उसके बाद शादी की पहली रात आप दोनों को साथ लाने की एक नई शुरुआत होती है, और उसी दिन सबसे पहली बार आपको अपने साथी को करीब से जानने का मौका मिलता है, तो आपको अपनी सुहागरात पर कुछ बातों का बहुत ध्यान रखना चाहिए।

जैसे की आपको अपने साथी के साथ कौन सी बातें करनी चाहिए, और किन चीजो के बारे में शादी की पहली रात को आपको डिसकस नहीं करना चाहिए, क्योंकि कुछ बातें कई बार आपकी शादी की पहली रात को यादगार बनाने की बजाय आपके इस खास लम्हे को बिगाड़ सकती है, जैसे की शादी की पहली रात आपको किसीके भी परिवार चाहे वो लड़का हो या लड़की उसकी बुराई या किसी प्रकार की अच्छाई पर डिसकस नहीं करना चाहिए, किसी तरह का अपने साथी पर दबाव या फिर उससे किसी प्रकार की डिमांड नहीं करनी चाहिए।

और कई लड़कियां कई बार इमोशनल भी हो जाती है, ऐसा करने से आपका साथी कई बार अजीब सा महसूस भी कर सकता है, और पति पत्नी का रिश्ता बराबरी का होता है, ऐसे में आपको अपने साथी को कभी भी नीचा नहीं दिखाना चाहिए, और उस दिन अपने भविष्य के बारे में बात न ही करें तो अच्छा होगा, क्योंकि कईबार ऐसी बातें करने पर आपकी राय न मिलने के कारण शादी की पहली रात की खटपट हो सकती है, तो आइये अब विस्तार से जानते है की शादी की पहली रात आपको कौन कौन सी बात नहीं करनी चाहिए।

एक दूसरे को न दिखाएं नीचा:-

पति पत्नी का रिश्ते एक दूसरे को बराबर समझना चाहिए, ताकि उस रिश्ते में कभी भी तनाव न आएं, कई बार लड़का हो या लड़की शादी की पहली ही रात नौकरी या अपने परिवार को ऊँचा या किसी भी कारण अपने साथी को नीचा दिखाने की कोशिश करते है, ऐसे में शादी की पहली रात जिसे आपको यादगार बनाना चाहिए, उसी दिन से ही कड़वाहट पैदा हो जाती है, इसीलिए हो सकें तो शादी शुदा रिश्ते में केवल पहली रात ही नहीं बल्कि कभी भी अपने साथी को नीचा दिखाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।

कोई डिमांड न करें और न ही किसी प्रकार का दबाव डालें:-

पति पत्नी का सम्बन्ध जीवन भर के लिए होता है, ऐसे में ज्यादातर लड़कियों के मन में ये सवाल होता है की क्या वो अपने पति को खुश कर पाएंगी या नहीं, तो पति को ये ध्यान रखना चाहिए की वो पहले अपने साथी को आरामदायक महसूस करवाएं, और उसकी हिचकिचाहट को दूर करें, उससे प्यार भरी बातें करें, न की उससे कोई डिमांड करें, या उस पर किसी भी चीज को लेकर दबाव डालें, ऐसे में कई बार बनते रिश्ते ख़राब हो जाते है, और शादी की पहली रात ही आपके लिए बेकार हो जाती है, ऐसे में न तो आपको कोई ख़ुशी मिलती है, और न ही आपका साथी खुश रह पाता है।

गलती से भी अपने अतीत को लेकर बातें न करें:-

शादी की पहली रात आपके लिए खुशियो भरी और यादगार हो ये सब आपके हाथो में ही होता है, ऐसे में कभी भी आपको अपने साथी से अपने अतीत के बारे में गलती से भी बात नहीं करनी चाहिए, क्योंकि कई बार कुछ ऐसी बातें आपके मुँह से निकल जाती है, जो की आपके रिश्ते को शुरू होने से पहले ही खत्म कर सकती है, चाहे आपका साथी कितने ही प्यार से आपके अतीत के बारे में आपसे पूछे परंतु न तो आपको उससे ऐसी किसी बात को करना चाहिए, और न ही इस विषय में पूछने पर उसे किसी भी प्रकार का जवाब देना चाहिए।

एक दूसरे के परिवार के बारे में न करें बातें:-

शादी की पहली रात पति और पत्नी के लिए होती है ऐसे ,में किसी तीसरे के बारे में आपको बातें नहीं करनी चाहिए, चाहे फिर वो आपका परिवार ही क्यों न हो, कई बार लड़का हो या लड़की अपने परिवार को हमेशा अच्छा दिखाने की और सामने वाले के परिवार को अनजाने में ही या जान कर भी नीचा दिखाने की कोशिश में उनकी बुराई करते है, ऐसा नहीं करना चाहिए, ऐसा करने से आपकी पहली रात तो ख़राब हो ही जाती है, इसके कारण आपकी पहली झलक का भी आपके साथी पर गलत असर पड़ता है, इसीलिए आपको ध्यान रखना चाहिए, की शादी की पहली रात आपको सिर्फ आपके और आपके साथी के अलावा किसी की भी बातों को नहीं करना चाहिए।

भविष्य के बारे में बातें न करें:-

शादी की पहली रात को केवल उसी रात के बारे में ही बात की जाये तो अच्छा रहता है, आप खुद ही सोचिये की शादी की पहली रात आप ये बात करेंगी की शादी के एक साल बाद आपने ये करना है तो आपको कैसा लगेगा, और कई लड़कियां तो शादी की पहली रात ही शुरू हो जाती है मुझे ये करना है ऐसा चाहिए, तो ऐसा करने से सारा समय भविष्य को प्लान करने में ही चला जाता है, और कई बार आपका साथी और आपके विचार भविष्य को लेकर न मिलने के कारण आप दोनों में बहस भी हो जाती है, और शादी की पहली शुरुआत ही बहस को लेकर हो तो बाद में कैसे चलेगा, तो इसीलिए शादी की पहली रात को खास बनाने के लिए ऐसे किसी विषय के बारे में बात नहीं करनी चाहिए।

शादी की पहली रात इमोशनल बातें न करें:-

शादी की पहली रात प्यार भरी बातों को करना चाहिए न की इमोशनल बातों को लेकर, ये ज्यादातर लाकियो को लेकर होता है क्योंकि वो अपने परिवार को छोड़ कर आती है, परंतु ऐसा नहीं करना चाहिए, आपको अपने साथी का भी ख्याल होना चाहिए, क्योंकि अब आपने उसी के साथ रहना होता है, ऐसे में कई बार आपका साथी अच्छा महसूस भी नहीं करता है, और आपकी प्यार भरी रात आसुंओ में ही बह जाती है, इसीलिए आपको ध्यान रखना चाहिए की आप अपने साथी से केवल प्यार भरी बातों को ही करें न की इमोशनल बातों को करें।

शारीरिक सम्बन्ध बनाने में जल्दबाज़ी न करें:-

शादी की पहली रात पति और पत्नी को केवल भावनात्मक रूप से ही नहीं बल्कि शारीरिक रूप से भी जोड़ती है, ऐसे में आपको ध्यान रखना चाहिए, की आप शारीरिक सम्बन्ध बनाने में जल्दबाज़ी न करें, क्योंकि ऐसे में आपका साथी असहज महसूस कर सकता है, किसी भी लम्हे का भरपूर आनंद उठाने के लिए जरुरी होता है की आप दोनों साथी एक दूसरे का भरपूर साथ दें, ताकि दोनों ही इस लम्हे का आनंद उठा सकें, और हो सकें तो इस विषय में पहले आपको अपने साथी से बात करनी चाहिए, ताकि उसकी हिचक खुल सकें और उसे शारीरिक सम्बन्ध बनाने में कोई परेशानी न हो। और आपको एकाएक और बार बार अपने साथी के साथ सम्भोग नहीं करना चाहिए, ऐसे में आपका साथी असहज महसूस कर सकता है, और कई बार परेशानी का अनुभव भी हो सकता है, इसीलिए अपने साथी की रजामन्दी का भी ध्यान रखें।

अपने साथी की कमी न निकालें:-

शादी की पहली रात लड़के और लड़की दोनों के लिए ही एक नया अनुभव होता है, ऐसे में आप दोनों को ही ध्यान रखना चाहिए, की आप दोनों एक दूसरे की गलती न निकालें, चाहे वो बार संतुष्टि को लेकर हो या किसी और बात को लेकर, शादी की पहली रात ही नहीं बल्कि आपको अपना पूरा जीवन एक साथ बिताना होता है, और धीरे धीरे आप एक दूसरे को अच्छे से जानने भी लगते है, इसीलिए हो सकें, तो आपको एक ही रात में किसी की कमियो का बखान नहीं करना चाहिए, इससे आपके साथी के मन में आपके लिए अच्छे भाव नहीं रहते है।

सिर्फ अपनी ही चलाने को कोशिश न करें:-

पति पत्नी के रिश्ते में दोनों का बराबरी का हक़ होता है, ऐसे में आपको ध्यान रखना चाहिए, की आ[को सिर्फ अपनी ही नहीं चलानी चाहिए, चाहे फिर वो लड़का हो या लड़की, ऐसे में आपको ध्यान रखना चाहिए की आप केवल अपनी ही न चलाएं, यदि आप ऐसा करते है तो इसमें आपका पार्टनर असहज महसूस कर सकता है, और शादी की रात ही नहीं बल्कि सारी जिंदगी आपको आपसी जो भी काम करने चाहिए, उसमे दोनों की रजामंदी को शामिल करना चाहिए।

तो ये है कुछ बातें जो आपको शादी की पहली रात नहीं करनी चाहिए, इसके अलावा आप अपने साथी को खुश करने के लिए उनके लिए उपहार ले सकते है, उनके लिए कुछ खास प्लान कर सकते है, उन्हें खुश करने के लिए ज्वेलरी भी दे सकते है, और आपको ज्यादा उतावला नहीं होना चाहिए बल्कि धीरज से काम लेना चाहिए, और यदि आप अपनी पहली रात को ख़ास बनाना चाहते है, तो आपको अपने साथी से ज्यादा उम्मीद नहीं लगानी चाहिए, और आप जैसे ही वैसे ही रहना चाहिए, क्योंकि रिश्ते का असली रूप[ बाद में सामने आ ही जाता है, इसीलिए अपने इस रात को खास बनाने के लिए हमेशा अपने असलियत को कभी भी सामने आने से न रोकें।

 

[Total: 6    Average: 3.8/5]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *