पीरियड्स में साफ़ सफाई का ध्यान ऐसे रखें! और इन्फेक्शन से बचें

  
periods

पीरियड्स महिलाओ को होने वाली एक प्रक्रिया है, जिसमें महिलाओ के प्राइवेट पार्ट से रक्त का प्रवाह होता है, और इस मामले में न तो महिलायें किसी से बात करना चाहती है, और न ही इस विषय में कुछ शेयर करना चाहती है। परन्तु पीरियड्स के दौरान ऐसी बहुत सी बातें है जिनका महिलाओ को ध्यान रखना चाहिए, जैसे की अपने प्राइवेट पार्ट की साफ़ सफाई का क्योंकि यदि आप इस बात का ध्यान नहीं रखती है, तो इसके कारण आपको इन्फेक्शन होने का खतरा होता है, और साथ ही खुजली, जलन, और रैशेस जैसी समस्या हो जाती है तो आइये जानते है इस बारे में कुछ और बातें।

इन्हे भी पढ़े:- पीरियड्स में ब्रैस्ट और कमर के दर्द को दूर करने के उपाय

पीरियड्स के दौरान आपको अपनी साफ़ सफाई का ध्यान और भी ज्यादा देना पड़ता है, जैसे की आप कौन सा सैनिटरी पैड का इस्तेमाल कर रही है, आप अपने पैड को कितने समय के बाद बदलती है, अपने प्राइवेट पार्ट के लिए ज्यादा गंध वाले प्रोडक्ट का इस्तेमाल तो नहीं करती है, ऐसी ही कुछ बातों का ध्यान आपको पीरियड्स के समय रखना पड़ता है, क्योंकि यदि आप इन बातों का ध्यान नहीं रखते है, तो आपको इन्फेक्शन का खतरा होता है, पीरियड्स आपको हर महीने तीन से पांच दिन के लिए होता है, ऐसे में आपके प्राइवेट पार्ट को बहुत ज्यादा साफ सफाई की जरुरत होती है, साथ ही कई महिलायें आज भी पीरियड्स में कपडे का इस्तेमाल करती है, जो भी इन्फेक्शन का कारण बनता है, तो आइये विस्तार से आपको बताते है की आपको पीरियड्स में साफ़ सफाई के लिए किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

सैनिटरी पैड का रखें ध्यान:-

आज के समय में बाजार में आपको बहुत से सैनिटरी पैड मिल जाते है, जिसका इस्तेमाल करके आप पीरियड्स में अपने आप को हाईजीन रह सकती है, और पीरियड्स के समय के लिए ज्यादातर कॉटन लेयर के स्लिम सैनिटरी पैड का इस्तेमाल करने की सलाह हर किसी को दी जाती है, इनका इस्तेमाल करने से आपको रैशेस की समस्या से राहत मिलती है, और साथ ही ये गीलेपन को भी अच्छी तरह से सोख लेता है, जिसके कारण आपको आरामदायक महसूस होता है, और आप किसी और भी अच्छे पैड का इस्तेमाल भी कर सकती है, परन्तु बस इतना ध्यान रखें की उस पैड का इस्तेमाल करें, जो गीलेपन को जैल में परिवर्तित कर दे।

पैड को बदलते रहें:-

पीरियड्स के समय आपको पैड को कम से कम छह घंटे के बाद बदल देना चाहिए, क्योंकि पीरियड्स के समय में आपके शरीर में बैक्टेरिया के फैलने के खतरा ज्यादा होता है, और प्राइवेट पार्ट से तेजी से हो रही ब्लीडिंग के कारण अंदर नमी आ जाती है, जिसके कारण इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है, और चाहे आपको ब्लीडिंग कम भी हो रही हो तो भी आपको छह घंटे से ज्यादा पैड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, कई महिलाओ को ज्यादा तेजी से रक्त का स्त्राव होता है, उन्हें दो या तीन घंटे में अपने पैड को बदल लेना चाहिए, खास कर पहले दो दिन ब्लीडिंग की समस्या ज्यादा होती है।

इन्हे भी पढ़े:- होम रेमेडीज जो बचाएगी आपको पीरियड में होने वाली तकलीफ से

प्राइवेट पार्ट की साफ़ सफाई का ध्यान रखें:-

पीरियड्स के समय आपको प्राइवेट पार्ट में खुजली, जलन, व् रैशेस जैसी समस्या हो सकती है, इसीलिए आपको अपनी साफ़ सफाई का खास ख्याल रखना चाहिए आप पीरियड्स में जितनी बार भी बाथरूम में जाते है, उतनी बार अपने प्राइवेट पार्ट को पानी से अच्छे से धोना चाहिए, और साथ ही आपको ज्यादा गंध वाले साबुन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, बल्कि आपको बैक्टेरिया मुक्त साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए, इसके अलावा आपको पीरियड्स में नियमित नहाना भी जरूर चाहिए, क्योंकि जितना आप अपनी साफ़ सफाई का ध्यान रखेंगे, उतना ही आप इन्फेक्शन से बचे रहेंगे।

प्राइवेट पार्ट के लिए ज्यादा केमिकल वाली चीजों का इस्तेमाल न करें:-

मासिक धर्म के समय महिलाओ को अपने प्राइवेट पार्ट की साफ़ सफाई के लिए ज्यादा केमिकल या गंध वाली चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, बल्कि आपको बैक्टेरिया मुक्त साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि ज्यादा गंध वाली चीजों का इस्तेमाल करने से आपके प्राइवेट पार्ट के गुड बैक्टेरिया खत्म हो जाते है, और गंदे बैक्टेरिया पैदा होने लगते है, जिसके कारण आपको इन्फेक्शन होने की सम्भावना बढ़ जाती है, इसीलिए आपको अपने प्राइवेट पार्ट को साफ़ करने के लिए इनकी जगह गरम पानी का इस्तेमाल करना चाहिए।

एक ही तरीके से करें सैनिटेशन का इस्तेमाल:-

कई महिलायें ऐसी होती है, जिन्हे पीरियड्स के समय बहुत अधिक रक्त का फ्लो होता है, इसके लिए वो एक साथ दो पैड या फिर पैड और कपडे का इस्तेमाल करती है, परन्तु ये बिलकुल सही तरीका नहीं होता है, इसके कारण न तो आपके पैड का सही ढंग से इस्तेमाल हो पाता है, और न ही आपको आरामदायक मह्सूस होता है, इसके कारण आपको रैशेस की समस्या होने का ज्यादा खतरा होता है, इसीलिए आपको कभी भी ऐसा नहीं करना चाहिए, इसकी जगह आप थोड़ी थोड़ी देर बाद पैड को बदलते रहे ये सही उपाय है, इसके कारण आपको संक्रमण की समस्या भी नहीं होती है।

सफाई के सही तरीके का इस्तेमाल करें:-

इन दिनों में आपको अपने प्राइवेट पार्ट की साफ़ सफाई के लिए भी बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिए, जाइए की प्राइवेट पार्ट की सफाई करते समय वजाइना से शुरु करके एनस की तरफ जाएं, उलटी दिशा में सफाई न करें, यदि आप उलटी दिशा में सफाई करते है तो इसके कारण बैक्टेरिया वजाइना से मूत्रमार्ग तक फ़ैल जाता है, जिसके कारण आपको इन्फेक्शन की सम्भावना भी बढ़ जाती है, इसीलिए आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए।

तो ये कुछ बातें है जिनका ध्यान आपको पीरियड्स के समय साफ सफाई को लेकर रखना चाहिए, इसके साथ आपको जब भी कही बाहर भी जाना हो तो भी इन दिनों की जरुरत का सामान अपने साथ रख कर लेकर जाना चाहिए, जैसे की एक्स्ट्रा पैड, एक नरम तौलिया, थोड़े टिश्यू पेपर, हैंड सैनिटाइज़र, ऐंटिसेप्टिक क्रीम आदि, और अपने लिए खाने पीने का सामान भी रखना चाहिए, ताकि आपको इन दिनों में बहार जाकर किसी परेशानी का सामना न करना पड़े, तो ये कुछ बातें है जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए, इसके कारण आपको पीरियड्स के दिनों में इन्फेक्शन से बचने  में मदद मिलती है।

इन्हे भी पढ़े:- माहवारी (पीरियड्स) के समय किन-किन बातो का ध्यान रखना चाहिए

[Total: 3    Average: 1.7/5]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *